विभिन्न समाचार पत्रों में प्रकाशित मुख्य समाचार एवं विभाग के द्वारा तथ्यात्मक टिपण्णी



 


क्र . स. प्रकाशित दिनांक समाचार पत्र
मुख्य समाचार श्रेणी विभाग पत्र प्राप्तकर्ता विभाग की तथ्यात्मक टिपण्णी जवाब प्रकार
1 15/04/2014 राजस्‍थान पत्रिका

 शिकायत पर पानी सप्लाई ही बंद प्रमुख शासन सचिव दिनांक 15/04/2014 को राजस्थान पत्रिका में प्रकाशित समाचार 'शिकायत पर पानी सप्लाई ही बंद' के संबंध में तथ्यात्मक टिप्पणी Factual Report
2 10/04/2014 राजस्‍थान पत्रिका

 चुनाव के परदे में तन रहीं अवैध इमारतें प्रमुख शासन सचिव दिनांक 10/04/2014 को राजस्थान पत्रिका में प्रकाशित समाचार 'चुनाव के परदे में तन रहीं अवैध इमारतें' के संबंध में तथ्यात्मक टिप्पणी Factual Report
3 03/04/2014 राजस्‍थान पत्रिका

 छत न कुर्सी, बस शेल्टर प्रमुख शासन सचिव दिनांक 03/04/2014 को राजस्थान पत्रिका में प्रकाशित समाचार 'छत न कुर्सी, बस शेल्टर' के संबंध में तथ्यात्मक टिप्पणी Factual Report
4 02/04/2014 दैनिक भास्‍कर

 10 करोड़ की मशीन, एक भी मरीज को थैरेपी नहीं प्रमुख शासन सचिव सवाई मानसिंह चिकित्सालय में स्थापित लीनियर ऐक्सीकलेरेटर मशीन द्वारा वर्ष 2009 से लगातार कैंसर मरीजों का इलाज हो रहा है। एसआरएस थेरेपी का उपयोग मस्तिष्क के कैंसर के इलाज में होता है। इसके लिये कई मापदण्ड हैं जैसे कि 3 सेन्टीमीटर से कम आकार की गांठ हो। इस तरह के कैंसर रोगी पहले न्यूरो सर्जन से सलाह लेकर उपचार कराते हैं। रेडियोथैरेपी विभागाध्यक्ष के अनुसार आज तक रेडियोथैरेपी विभाग में न्यूरोसर्जरी विभाग से कोई भी उपयुक्त मरीज इसके लिये रैफर होकर नहीं आया है। लीनियर एक्सीरलेरेटर मशीन पर करीब 150 मरीजों का प्रतिदिन इलाज हो रहा है। राज्य सरकार ने Atomic Energy Regulatory Board नियमों के अनुसार मरीजों की संख्या देखते हुये Imaging Super Consultant Pvt. Ltd. के साथ जन सहभागिता स्कीम के अन्तर्गत लीनियर एक्सीलेरेटर मशीन स्थापित की है। कार्य सुचारू रूप से हो एवं नवीनतम तकनीकी का उपयोग सही तरीके से हो सके इसके लिए मशीन संचालन हेतु रेडियेशन ऑन्कोलोजिस्ट चिकित्सक की आवश्यकता होती है। इसके लिए 2 अतिरिक्त रेडियेशन ऑन्को‍लोजिस्ट लगाये गये हैं। इस समय इस सेन्टर पर एक पूर्णकालिक तथा एक अंशकालिक रेडियेशन ऑन्कोलोजिस्ट चिकित्सक कार्य कर रहे हैं। उपरोक्त दिनांक 01-04-2014 को समाचार पत्र में प्रकाशित खबर ''10 करोड़ रूपये की मशीन एक भी मरीज को थेरेपी नही'' भ्रामक, निराधार एवं तथ्यों से परे है । Factual Report
5 28/03/2014 राजस्‍थान पत्रिका

 3887 प्लॉट, 7 साल और एक निर्माण प्रमुख शासन सचिव दिनांक 28/03/2014 को राजस्थान पत्रिका में प्रकाशित समाचार '3887 प्लॉट, 7 साल और एक निर्माण' के संबंध में तथ्यात्मक टिप्पणी Factual Report
6 26/03/2014 राजस्‍थान पत्रिका

 तलाई का गला घोटने की तैयारी प्रमुख शासन सचिव दिनांक 26/03/2014 को राजस्थान पत्रिका में प्रकाशित समाचार 'तलाई का गला घोटने की तैयारी' के संबंध में तथ्यात्मक टिप्पणी Factual Report
7 26/03/2014 राजस्‍थान पत्रिका

 खराब एलटी लाइन में चालू रही बिजली सप्लाई, नई लाइन डालने में दो की मौत प्रमुख शासन सचिव दिनांक 26/03/2014 को राजस्थान पत्रिका में प्रकाशित समाचार 'खराब एलटी लाइन में चालू रही बिजली सप्लाई, नई लाइन डालने में दो की मौत' के संबंध में तथ्यात्मक टिप्पणी Factual Report
8 25/03/2014 राजस्‍थान पत्रिका

 जेडीए भी चला भू-कारोबारियों की चाल प्रमुख शासन सचिव दिनांक 25/03/2014 को राजस्थान पत्रिका में प्रकाशित समाचार 'जेडीए भी चला भू-कारोबारियों की चाल' के संबंध में तथ्यात्मक टिप्पणी Factual Report
9 25/03/2014 डेली न्‍यूज

 मकान से खलिहान तक सीवर का पानी प्रमुख शासन सचिव दिनांक 25/03/2014 को डेली न्यूज में प्रकाशित समाचार 'मकान से खलिहान तक सीवर का पानी' के संबंध में तथ्यात्मक टिप्पणी Factual Report
10 25/03/2014 नेशनल दुनिया

 एक कमरे में चल रहा जनाना का आउटडोर प्रमुख शासन सचिव दिनांक 22.03.2014 को नेशनल दुनिया में प्रकाशित समाचार शीर्षक – ‘’एक कमने में चल रहा जनाना का आउटडोर’’ के संबंध में तथ्यात्मक रिपोर्ट-- अधीक्षक जनाना अस्पताल, जयपुर से प्राप्तम तथ्यात्मक रिपोर्ट द्वारा यह अवगत कराया गया है कि – 1. आउटडोर – जनाना अस्पताल में 5 ओपीडी चल रहे है जिनमें 1 गायनी, 1 प्रसव पूर्व जांच, 1 एसडीडी क्लीनिक, 1 स्पे‍शियलिटी क्लीनिक और 1 परिवार कल्याण ओपीडी है जिनमें मरीजों की सुविधा हेतु निम्नानुसार कक्ष हैं- गायनी ओपीडी में 4 कक्ष, प्रसव पूर्व ओपीडी में 4 कक्ष, स्पेशियलिटी में 4 कक्ष उपलब्ध है। इनके अलावा बाहर रजिस्ट्रेंशन कक्ष है। 2. मरीजों की जांच हेतु प्रयोगशाला, सोनोग्राफी एवं एक्सरे विभाग अलग-अलग उपलब्ध है। 3. पुराने नर्सिंग हॉस्टल के नवीनीकरण का कार्य सार्वजनिक निर्माण विभाग द्वारा कराया जा रहा है कार्य को शीघ्र कराने हेतु निरंतर पत्र व्य‍वहार किया जा रहा है सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधीषाशी अभियंता ने अपने पत्रांक 4053 दिनांक 21.03.2014 के द्वारा अस्पताल प्रशासन को सूचित किया गया कि उक्त कार्य को शीघ्र पूर्ण करने हेतु ठेकेदार को अंतिम नोटिस दिया जा चुका है और सक्षम स्वीकृति प्राप्त होने के पश्चात निविदा आमंत्रित कर कार्य को पूरा कराने की कार्यवाही की जायेगी। 4. अस्पताल के मुख्य भवन के सामने का प्रवेश द्वार मेट्रो परियोजना के कारण बंद है। वहां से मरीजों की आवाजाही बंद है। अस्पताल के पीछे झोटवाडा रोड वाला द्वार ही मरीजों एवं परिजनों की आवाजाही का एकमात्र मार्ग है जिससे ओपीडी के मरीज एवं वार्डो में भर्ती मरीजों के परिजनों की आवाजाही बनी रहती है। Factual Report
         >>Prev          more>>